Connect with us

ऊर्जा का सर्वश्रेष्ठ विकल्प ‘सौर ऊर्जा’

Current Affairs

ऊर्जा का सर्वश्रेष्ठ विकल्प ‘सौर ऊर्जा’

solar-energy

आर्थिक विकास की मूलभूत आवश्‍यकताओं में से एक ऊर्जा है। समाज के प्रत्‍येक क्षेत्र, चाहे यह कृषि हो, उद्योग, परिवहन, व्‍यापार याघर, सभी जगह ऊर्जा की आवश्‍यकता है. पिछले वर्षों के दौरान जैसे जैसे देश की प्रगति हुई है, इन क्षेत्रों में ऊर्जा की जरूर बढ़ी है. सौर ऊर्जा बिजलीके एक बड़े विकल्प के रूप में उभरी है. इससे कार्बन डाइऑक्साइड का उत्सजर्न भी नहीं होता, जिसके लिए पूरी दुनिया चिंतित है छत्तीसगढ़  मेंइसके उत्पादन की काफी अनुकूल स्थितियां हैं.

भारत दुनिया के उन गिने-चुने देशों में एक है, जहां औसतन 1700 किलोवॉट सौर ऊर्जा प्रति वर्ग मीटर की दर से गिरती है. सूर्य की यह तेजीज्यादातर इलाकों में लगभग पूरे साल रहती है. राजस्थान में करीब 300 दिन धूप रहती है. उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र में आठमाह धूप रहती है, इसलिए भारत को दुनिया के उच्च स्तर के सौर ऊर्जा की क्षमता वाले देशों में शामिल किया जाता है. सौर ऊर्जा के महत्व कोसमझते हुए केंद्र के साथ कई राज्य सरकारें भी सक्रिय हुई हैं. सौर ऊर्जा के इस्तेमाल से एक और बड़ा फायदा यह है कि इसमें ताप ऊर्जा की तरहकोयले का इस्तेमाल नहीं होता. ऐसे में प्रदूषण नहीं फैलता और हम कार्बन डाइ-ऑक्साइड के उत्सजर्न में कमी ला सकते हैं. कार्बन डाइ-ऑक्साइडके बढ़ते उत्सजर्न को लेकर पूरी दुनिया चिंतित है, क्योंकि इससे पर्यावरण पर विपरीत असर पड़ रहा है पर सौर ऊर्जा के बड़े पैमाने पर उत्पादनऔर इस्तेमाल में सबसे बड़ी समस्या यह है कि इसकी लागत काफी अधिक है, इसलिए सौर ऊर्जा के इस्तेमाल पर केंद्र और राज्य सरकार सब्सिडीमुहैया करा रही हैं, ताकि सौर ऊर्जा को बढ़ावा दिया जा सके.

solar_1430838499

एक नजर सौर ऊर्जा पर
’सौर ऊर्जा सूर्य से प्राप्त शक्ति को कहते हैं. इस ऊर्जा को ऊष्मा या विद्युत में बदल कर अन्य प्रयोगों में लाया जाता है.’सूर्य से सौर ऊर्जा प्राप्त करउसे प्रयोग में लाने के लिए सोलर पैनलों की आवश्यकता होती है. सोलर पैनलों में सोलर सेल होते हैं, जो ऊर्जा को प्रयोग करने लायक बनाते हैं.’भारतीय भूभाग पर पांच हजार लाख किलोवॉट घंटा प्रति वर्ग मीटर के बराबर सौर ऊर्जा आती है.’साफ धूप वाले दिनों में सौर ऊर्जा का औसत पांचकिलोवॉट घंटा प्रति वर्ग मीटर होता है.’एक मेगावॉट सौर ऊर्जा के उत्पादन के लिए लगभग तीन हेक्टेयर समतल भूमि की जरूरत होती है.

सौर ऊर्जा के प्रयोग के तरीके
सौर तापीय विधि (सोलर थर्मल) – इसमें सूर्य की ऊर्जा से हवा या तरल पदार्थ को गर्म किया जाता है. इसका उपयोग घरेलू काम में किया जाता है. प्रकाश विद्युत विधि (फोटोइलेक्ट्रिक) – इस विधि में सौर ऊर्जा को विद्युत में बदलने के लिए फोटोवॉल्टेक सेलों का इस्तेमाल किया जाता है.

सरकार का लक्ष्य
राष्ट्रीय सौर मिशन भारत सरकार की एक महती परियोजना है, जिसके तहत भारत में 2022 तक 20,000 मेगावॉट अतिरिक्त बिजली जोड़ने कालक्ष्य है. भारत सरकार ने जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय सौर मिशन को नवंबर 2009 को मंजूरी दी थी.

solar_resource_map_of_india

देश में सौर ऊर्जा

सोलर लैंप से गांवों में रोशनी
46,00,000 सोलर लालटेन देश भर में स्थापित की जा चुकी हैं.
861,654 घरेलू लाइट्स का इस्तेमाल देश में सौर ऊर्जा से किया जा रहा है.
असर: बिजली न होने के कारण जिन गांवों में केरोसिन से लालटेन वगैरह जलाई जाती थीं, वहां अब सोलर लैंप का इस्तेमाल किया जा रहा है, जिससे ऊर्जा भी ज्यादा मिल रही है और खर्च भी कम हो रहा है.

 

solar-panels-agriculture-560x393

खेती में सोलर पम्प का इस्तेमाल
7,771 सोलर वाटर पम्प देश के खेतों में लगाए जा चुके हैं.

असर: खेतों की सिंचाई के लिए वाटर पम्प से पानी खींचने की जरूरत पड़ती है. अगर गांव में बिजली न आए तो यह काम रुका रहता है, जिससेफसलों को नुकसान पहुंचने की आशंका बहुत बढ़ जाती है. सोलर वाटर पम्प के होने से यह समस्या काफी हद तक सुलझ गई है.

solar-power-energy-india-inc

 

सरकारी योजनाओं में सौर ऊर्जा
’ नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने देश भर में 51 सोलर रेडिएशन रिसोर्स एसेसमेंट स्टेशन बनाए हैं. ’ इन स्टेशनों का काम सौर ऊर्जा कीउपलब्धता पर नजर रखना है.’ ये स्टेशन ‘स्टेशन फॉर विंड एनर्जी टेक्नोलॉजी’ की मदद से सोलर एटलस तैयार करते हैं. ’ 2011 के वार्षिक बजटमें सरकार ने जवाहर लाल नेहरू नेशनल सोलर मिशन को 10 बिलियन रुपए दिए थे, ताकि वह सौर ऊर्जा पर काम कर सके.’ पिछले बजटों से यह3.8 बिलियन अधिक धनराशि थी.’ सरकार ने प्राइवेट सोलर कंपनियों को कस्टम डय़ूटी में भी राहत दी, जिससे उनका रुझान इस दिशा में और बढ़गया. ’ इस छूट के बाद रूफ टॉप सोलर पैनल के लगने पर आने वाले खर्च में कम से कम 15 से 20 प्रतिशत की कटौती हो गई.

 

photo credit : upload.wikimedia.org,  tropicalsolarenergy.com, solarindia.indiaincorporated.com, greenprophet.com, .dainikbhaskar.com

Continue Reading
You may also like...
Comments

More in Current Affairs

To Top