Connect with us

रियल एस्टेट और देश की अर्थव्यवस्था के विकास के लिए अहम होगा 2016

Meri Property

रियल एस्टेट और देश की अर्थव्यवस्था के विकास के लिए अहम होगा 2016

प्रधान संपादक

की कलम से…

111_opt

भारत के सकल घरेलु उत्पाद – जीडीपी और रोजग़ार सृजन में अहम योगदानकर्ता होने के कारण रियल्टी सेक्टर से हमेशा काफ़ी उम्मीद होती है. यह सेक्टर अकेले ही 30 से ज्यादा सेक्टरों और उद्योगों को चलाता है. रियल्टी सेक्टर ने वर्ष 2006 से ले कर 2008 तक अपना सबसे अच्छा प्रदर्शन किया और मांग व पूर्ति दोनों अपने चरम पर रहे. चूंकि अब हम साल 2016 में कदम रख चुके हैं, तो हम यह देख सकते हैं की इस साल की शुरूवात से इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए जो घोषणाएं हुई है उन्होंने काफ़ी कुछ बदल दिया और यह साबित कर दिया की वह रियल्टी सेक्टर की रीढ़ है. बहुत से बदलाव हो चुके हैं और बहुत से होने वाले है. इस कारण लोगों की उम्मीद नई सरकार से काफ़ी ज्यादा है और व्यापार करने के तरीके में बदलाव के आने से देश के विकास को गति मिलेगी. इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार आने के काफ़ी रस्ते साफ़ दिख रहे थे इस कारण एकल खिडक़ी अनुमोदन प्रणाली, भूमि अधिकरण विधेयक और अचल संपत्ति विधेयक के पारित होने के आसार भी काफ़ी बढ़ गये हैं. चूंकि, स्मार्ट इंडिया मिशन पर कार्य गति से चल रहा है तो यह ज़रूरी हो गया है की इन विधेयकों को पारित किया जाये और रियल एस्टेट को उद्योग का दजऱ्ा प्राप्त हो. वर्ष 2016 में भारतीय रियल एस्टेट के अन्दर एफडीआई अहम भूमिका निभाएगा, सरकार द्वारा नियमों में ढील देने का सबसे बड़ा कारण ही यही है की विदेशी निवेशकों को आकर्षित कर सके.वर्ष 2016 में टियर 2, 3 और 4 शहरों के अन्दर रियल एस्टेट काफ़ी बेहतर होगा क्योंकि यहां निवेश पर प्रतिफल, कीमतों में इज़ाफा और नए खरीददार मौजूद होंगे. आधुनिक और विश्वस्तरीय इंफ्रास्ट्रक्चर बनाने का सपना 2016 में और तेज़ी पकड़ लेगा. 98 शहर स्मार्ट बनने का प्लान सरकार को जमा कर रहे हैं और 272 शहरों व नगरों में इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए सरकार ने 11000 करोड़ से ज्यादा की पूंजी का आवंटन किया है, इससे यह अंदाज़ा लगाया जा सकता है की वर्ष 2016 भारत में शहरी परिवर्तन के लिए काफ़ी खास होगा. जैसे ही इंफ्रास्ट्रक्चर का काम तेज़ी पकड़ेगा उतनी ही तेज़ी से रियल एस्टेट में मांग भी बड़ेगी. इसलिए हम उम्मीद लगा रहे हैं 2016 रियल एस्टेट और देश की अर्थव्यवस्था के विकास के लिए काफ़ी अहम होगा.

Continue Reading
You may also like...
Comments

More in Meri Property

To Top