Connect with us

होम लोन के ब्याज पर मिलेगा दो लाख रूपए डिडक्शन

RealEstate News

होम लोन के ब्याज पर मिलेगा दो लाख रूपए डिडक्शन

 

अगर आप मकान खरीदने की सोच रहे हैं तो आपके लिए खुशखबरी है. इस वर्ष वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा पेश किये गए बजट में रियल एस्टेट के लिए महत्वपूर्ण घोषणाएं की गई है. वित्त मंत्री ने बायर्स को ध्यान में रखते हुए सस्ते और अफोर्डेबल हाउसिंग स्कीम पर जोर देने की बात कही है. वित्त मंत्री द्वारा पेश किए गए बजट में ऐसा प्रविजन है जिससे मकान मालिकों द्वारा किराए में दी गई प्रॉपर्टी से  टैक्स का लाभ लेने पर रोक लग जाएगी.

अभी तक मकान मालिक द्वारा किराए पर दिए गए प्रॉपर्टी के ब्याज पर पूरा डिडक्शन क्लेम कर सकते थे. परन्तु आने वाले नए सत्र में प्रस्ताव के बाद सेल्फ-ऑक्युपाइड प्रॉपर्टी पर मकान मालिक 2 लाख तक का डिडक्शन क्लेम कर सकते हैं. अर्थात किराए पर दी गई प्रॉपर्टी हेतु लिए गए होम लोन के ब्याज पर आप एक साल में केवल 2 लाख रूपए तक का डिडक्शन क्लेम कर पाएंगे.

 

आप एक साल में लोन पर दिए गए ब्याज पर केवल 2 लाख रूपए तक का ही डिडक्शन कर सकते हैं. उदाहरण के तौर पर पूर्व में यदि ईएमआई पर सालाना लगने वाला ब्याज 5 लाख है तो मकान मालिक पूरे ब्याज पर डिडक्शन क्लेम कर सकता था लेकिन वर्तमान में प्रतिवर्ष केवल 2 लाख तक ही डिडक्शन क्लेम किया जा सकेगा. पर इसमें 8 साल तक कैरी फॉरवर्ड करने की इजाजत होगी.

एक्पर्ट का मानना है की इंडस्ट्री सरकार के इस फैसले को नकारात्मक रूप में ले रहे हैं परन्तु इसमें राहत की बात यह है कि सरकार ने लॉन्ग टर्म में कैपिटल गेन टैक्स के लिए समयसीमा तीन साल से घटाकर 2 साल कर दी है जिससे इन्वेस्टर्स दो साल के होल्डिंग पीरियड के बाद ही कम टैक्स देकर अपनी प्रॉपर्टी को बेच सकते हैं. अब 2 से अधिक सालाना ब्याज चुकाने वाले व्यक्ति भी अपनी टैक्स में बढ़ोत्तरी के नुकसान की भरपाई अगले 8 वर्षों में कर सकेंगे.

 

Photo Credit- i.huffpost.com, kreditnews.ru, s3.amazonaws.com

Comments

More in RealEstate News

To Top