Connect with us

होम लोन्स में कटौती, साकार होगा आपके आशियाने का सपना

Home Improvement

होम लोन्स में कटौती, साकार होगा आपके आशियाने का सपना

छह वर्षों के सबसे निचले स्तर पर ब्याज दर  

नोटबंदी के बाद लोगों को आशंका थी कि महंगाई अपने चरम पर होगी.  अपने आशियाने का सपना संजोए कई लोग प्रॉपर्टी की कीमतों के गिरने से हताश नजर आए तो कई लोगों के चेहरे पर कम दामों पर घर मिलने से मुस्कान देखने को मिली. नोटबंदी के मिले-जुले असर के बीच नए वर्ष में बैंकों ने भी राहत देते हुए ब्याज दरों में कटौती का अनमोल तोहफा दिया है. जिससे आपको घर, शिक्षा और वाहन खरीदने पर लो-ईएमआई के साथ-साथ कम दरों पर ब्याज मुहैया होगी.

1 जनवरी 2017 से सभी बैंकों ने अपने ब्याज दरों में कटौती करते हुए इसके अंतर्गत नियमों को लागू कर दिया है. अपने संबंधित बैंक में जाकर इससे जुड़ी सभी जानकारियों को विस्तार पूर्वक प्राप्त कर इसका लाभ उठा सकते है. इस फैसले से उच्च वर्ग के लोगों के साथ-साथ मध्यम और निम्न तबके को फायदे के साथ-साथ रियल एस्टेट में मंदी का दौर कम होगा एवं डिमांड बढ़ने की अपार संभावनाएं है.

 

एसबीआई में सबसे कम ब्याज दर

भारतीय स्टेट बैंक ने फेस्टिव स्कीम के तहत इस वर्ष होम लोन पर 0.15% तक ब्याज दरों को घटाया है जो की पिछले छ: वर्षों में सबसे कम है. इसकी तुलना में अन्य बैंक जैसे एचडीएफसी एवं आईसीआईसीआई ने भी अपने ब्याज दरों में कटौती की है परन्तु उनकी दरें एसबीआई की अपेक्षा 0.2% अधिक है. पूर्व में भारतीय स्टेट बैंक में होम लोन पर ब्याज की दर 9.25% थी लेकिन वर्तमान में महिलाओं को विशेष छूट देते हुए दर 9.1% व अन्य को 9.15% की दर से ब्याज पर लोन दिया जा रहा है.

स्कीम के तहत नहीं लगेगा प्रोसेसिंग फीस

भारतीय स्टेट बैंक ने घर, वाहन एवं शिक्षा हेतु लोन लेने पर ब्याज दरों में कटौती के साथ-साथ कुछ स्कीम के तहत प्रोसेसिंग फीस में भी छूट देने का मन बनाया है. विमुद्रीकरण से बैंकों में भारी मात्रा में पैसे जमा होने के कारण कर्जधारकों की कमी को देखते हुए ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए यह निर्णय लिया गाया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के डिजिटल इंडिया के तहत लोन हेतु आवेदन करने पर प्रोसेसिंग फीस अदा नहीं करना पड़ेगा. इसके साथ ही एसबीआई से एप्रूव्ड प्रोजेक्ट्स व एसबीआई प्रिविलेज एवं एसबीआई शौर्य स्कीम के तहत सरकारी कर्मचारियों को लोन से संबंधित किसी भी प्रकार की प्रोसेसिंग फीस देने की कोई आवश्यकता नहीं होगी अपितु बैंक द्वारा पूर्ण रूप से मुफ्त में यह सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी.

9 से 12 लाख रूपए तक के लोन पर मिलेगा सब्सिडी

31 दिसम्बर 2016 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने संबोधन में निम्न व मध्य तबके के लोगों को ध्यान में रखते हुए आवास की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए होम लोन पर सब्सिडी देने घोषणा की है. पहले की तुलना होम लोन के ब्याज दरों में कमी के बाद सब्सिडी की दर भी बढ़ाने की घोषणा करते हुए आवास हेतु होम लोन की राशि भी बढ़ाने की बात कही है. होम लोन पर पूर्व में छ: लाख रूपए तक क्रेडिट लिंक सब्सिडी दिया जाता था जिसमे वृद्धि करते हुए अब 9 से 12 लाख रूपए तक के होम लोन पर आपको सब्सिडी मिलेगा. इसके माध्यम से लोअर एवं इनकम ग्रुप को काफी फायदा होगा. सब्सिडी की दर में इजाफा करने से एलआईजी फ्लैट्स व ईडब्लूएस घरों की डिमांड को भी पूर्ण करने में आसानी होगी और अफोर्डेबल हाऊसिंग प्रोजेक्ट्स को भी फायदा होगा.

कम होगी ईएमआई

अपने सपनों का घर बनाने और खरीदने का सपना हर किसी का होता है. इस सपने को पूरा करने के लिए हम दिन रात मेहनत करते हैं. एक-एक पाई जोड़कर और बैंक से लोन लेकर हम घर खरीद तो लेते हैं पर उसके बाद हर महीने अपने खर्चों में कटौती कर भारी ईएमआई जमा करने के मानसिक व शारीरिक तनाव से जूझना पड़ता है. परन्तु होम लोन के ब्याज दरों में कटौती से इस तनाव से भी कुछ हद तक छुटकारा मिलेगा. प्रतिमाह ईएमआई के बढ़ते बोझ और पैसे की जुगत करने की परेशानियों से कुछ सुकून तो मिलेगा साथ ही अपने ईएमआई में कुछ वृद्धि कराकर ईएमआई जमा करने के झंझट से जल्दी निजात पा सकते है.

प्रॉपर्टी डीलिंग और रियल एस्टेट में होगा ग्रोथ

नोटबंदी के कारण रियल एस्टेट और प्रॉपर्टी डीलिंग के क्षेत्र में काफी गिरावट आई है जिसके चलते इनके दाम आधे हो गए है. रियल एस्टेट ब्रोकर्स के सौदे तय होने व एडवांस लेने के बावजूद भी तोड़ दिए गए. रेपो रेट में कमी से बिल्डरों व डीलरों को भी भारी नुकसान का सामना करना पड़ा है. परन्तु होम लोन की ब्याज दर में कटौती से अब प्रॉपर्टी डीलिंग में ग्रोथ होने की अपार संभावनाएं है. जैसे-जैसे स्थिति सामान्य होती जा रही है लोगों में पुनः रियल एस्टेट और प्रॉपर्टी डीलिंग के क्षेत्र में रुझान दिखाई दे रहा है. कम कीमत और कम ब्याज दर होने की वजह से ग्राहक वर्ग इसमें निवेश करने की सोच रहा है. लो बजट और नए प्रोजेक्ट की निर्माण प्रक्रिया भी जल्द प्रारंभ होगी और मकानों की लागत कम होने से कम दरों पर घर मिलेंगे.

भविष्य में मिलेगा अच्छा रिटर्न

रियल एस्टेट और प्रॉपर्टी में निवेश आपको कभी नुकसान नहीं पहुंचाता है.वर्तमान और भविष्य को देखते हुए निवेश के लिए इससे अच्छा कोई और विकल्प नहीं है. वर्तमान में सोने-चांदी के घटते-बढ़ते दामों पर नजर डालें तो उसमें कही न कही कुछ आपको नुकसान उठाना ही पड़ता है. क्योकिं बाजार में जो सोना है वह 22-23 कैरेट है जो की पूर्ण सोना नहीं है परन्तु रियल एस्टेट और प्रॉपर्टी मे इन्वेस्ट करने से वह आपको दुसरे दिन से ही फायदा पहुंचना शुरू कर देता है . सही लोकेशन और बेस्ट क्वालिटी मटेरियल से बने फ्लैट्स, बंगलो या रो-हाउस आपको दुगना फायदा भी पंहुचा सकता है. कामर्शिय प्लाट में निवेश करना आपको लंबे समय तक फायदा देता है. नोटबंदी के बाद स्थिति में सुधार के साथ-साथ कीमतें पुनः अपने स्तर पर पहुँच जाएगी. वर्तमान की स्थिति को देखते हुए रियल एस्टेट और प्रॉपर्टी में इनवेस्ट करने से भविष्य में आपको अच्छा रिटर्न मिलेगा इसलिए जल्द से जल्द इस फायदे का लाभ लें.

 

Photo credit- northernsky.in, s3.amazonaws.com, images.financialexpress.com, vakilhousing.com, loanadda.com, media2.intoday.in, 99acres.com

Comments

More in Home Improvement

To Top